Monday 21st of October 2019
Search
ब्लॉग   
831
सरकार पर सबाल .... जानिये कलमकार कौंशल किशोर चतुर्वेदी से .....
मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव 28 नवंबर के बाद के नौ दिन यानि 7 दिसंबर तक ज्यादा सुकून के थे या फिर 7 दिसंबर की शाम साढ़े पांच बजे के बाद का समय। यदि भारतीय जनता पार्टी और भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के नेताओं से कोई पूछे तो उत्तर दोनों ही तरफ से मिलेगा कि थोड़ी खुशी, थोड़ा गम...जैसे हालात हैं। यह एग्जिट पोल नाम की जो रंग-बिरंगी चिडिय़ा है, वह जब आंखों के सामने आती है तो कभी उसके रंगीन पंख मन को लुभाते हैं तो कभी धुंधली सी चिडिय़ा मन को विचलित करने वाली होती है। दोनों ही पार्टी के नेताओं खासतौर पर शीर्ष नेतृत्व की हालत शायद इससे जुदा नहीं है। 7 दिसंबर को एग्जिट पोल आने के बाद दोनों ही दलों

     
Read more

     
958
बिगड़ती शिक्षा पद्धति व कमजोर होते शिक्षण संस्थान का जिम्मेदार कौन
(ईन्यूज़ एमपी) उच्चतर शिक्षा व्यवस्था के मामले में अमरीका और चीन के बाद तीसरे नंबर पर भारत का नाम आता है। लेकिन जहाँ तक गुणवत्ता की बात है दुनिया के शीर्ष 200 विश्वविद्यालयों में भारत का एक भी विश्वविद्यालय नहीं है।कथित रूप से भारत में स्कूल की पढ़ाई करने वाले न&#
Read more
1163
एक सवाल हमारा भी: आखिर क्या कुछ कहता है आजादी का 70वां साल, देश को है बदलाव की जरूरत
(ईन्यूज़एमपी डॉट कॉम) - हर साल 15 अगस्त की तारीख हमारे लिए यह मायने रखती है की इस दिन हमारा देश आजाद हुआ था, भारत को अंग्रेज़ो की गुलामी से आजादी मिली थी। इस स्वतंत्रता दिवस मै देश के युवाओ से एक प्रश्न करना चाहती हूँ। क्या स्वतंत्रता दिवस पर हमे वही ख़ुशी होती है जो 70 सा

     
Read more

     
774
उद्योग मंत्री श्री शुक्ल के जन्म-दिवस पर विशेष:- 'व्यक्ति नहीं, व्यक्तित्व हैं राजेंद्र शुक्ल'
रीवा(ताहिर अली) राजेन्द्र शुक्ल... मध्यप्रदेश के राजनीतिक परिदृश्य पर एक चमकदार नक्षत्र के रूप में उपस्थित यह नाम किसी व्यक्ति भर का नहीं है, बल्कि एक सम्पूर्ण व्यक्तित्व का हैं। व्यक्ति से लेकर व्यक्तित्व तक का उनका सफर ठीक वैसा है जो सोने का कुंदन में तब्दी
Read more
1099
मेरी माँ तेरी माँ
माॅं, इस अंर्तध्वनि में संसार समाया हुआ हैं। माॅं है तो हम है, हम है तो जहान हैं। माॅं के चरणों में जन्नत हैं, और उस जन्नत की मन्नत सदा-सर्वदा हम पर आसिन रहती हैं। माॅं की बरकत कभी भेदभाव नहीं करती वह समान रूप से सभी बच्चों पर बरसती हैं। माॅ के लिए कोई औलाद तेरी-मेर

     
Read more

     
655
संसद के दर पर सियासत दारी
भारतीय संसद इस बात का प्रमाण है कि हमारी राजनीतिक व्यवस्था में जनता सबसे ऊपर है, जनमत सर्वोपरि हैं। भारत दुनिया का गुंजायमान, जीवंत और विषालतम लोकतंत्र हैं। यह मात्र राजनीतिक दर्षन ही नहीं है बल्कि जीवन का एक ढंग और आगे बढने के लिए लक्ष्य हैं। भारत का संविधा
Read more
 

 
live tv
enewsmp.com
 
 
 
 
 
होम  | देश/प्रदेश  | एमपी न्यूज़  | सीधी दर्पण  | राजनीति  | खेल खबर  | व्यापार  | कालचक्र  | हेल्थ  | क्राइम  | कैरियर  | टेक्नोलॉजी  | मनोरंजन  | ब्लॉग  | नियम एवं शर्तें  | गोपनीयता नीति  | विज्ञापन हमारे साथ  | हमसे संपर्क करें  | Live टीवी
enewsmp.com Copyrights 2016-2017. All rights reserved. Design & Development By MakSoft
 
Hit Counter